Anna Mani Biography in hindi – अन्ना मनी 2022

anna mani biography in hindi :- प्रो . अन्ना मनी भारतीय महिला वैज्ञानिकों में अत्यंत प्रसिद्ध रही है । उन्होंने रुढ़ियों व परंपराओं को तोड़ कर उच्च शिक्षा प्राप्त की और विज्ञान जगत में भारत का गौरव बढ़ाया । अन्ना का जन्म 1918 में केरल के त्रावणकोर में हुआ था ।

बचपन से ही उन्हें पुस्तकें पढ़ने का विशेष शौक था । वह प्रत्येक विषय की बहुत रुचि व गंभीरता से पढ़ती थीं । उन्हें विज्ञान जगत में विशेष रुचि थी , इसलिए उन्होंने 1939 में मद्रास के प्रेसीडेंसी कालेज से भौतिकी व रसायन जैसे कठिन विषय लेकर बी . एस . सी . ( ऑनर्स ) की शिक्षा प्राप्त की ।

Anna Mani Biography in hindi

उनकी प्रतिभा व योग्यता के कारण अगले ही वर्ष 1940 में उन्हें बंगलौर के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस में भौतिकी में शोध कार्य हेतु स्कॉलरशिप मिल गई । किस्मत की धनी अन्ना को भारत के नोबल पुरस्कार विजेता सी . वी . रमन के साथ काम करने का अवसर मिला ।

वही उनके गाइड थे । अन्ना को हीरों व माणिक्यों की प्रकाशीय विशेषताओं पर शोध कार्य करना था । गहन परिश्रम व अध्ययन के बाद 1942 से 1945 के दौरान अन्ना ने हीरों व माणिक्यों की प्रदीप्ति अर्थात् चमक पर पांच शोध पत्र तैयार किए । 1945 में उन्होंने मद्रास विश्वविद्यालय में अपनी पी – एच . डी . का खोजपूर्ण निबंध प्रस्तुत किए ।

उन्हें पी – एच . डी . की उपाधि तो मिली , साथ ही उन्हें लंदन में इंटर्नशिप के लिए सरकार द्वारा स्कॉलरशिप भी प्रदान की गई । उन्होंने लंदन में मौसम विज्ञान संबंधी उपकरणों में विशेषज्ञता हासिल की । अगले दो वर्ष उन्होंने हैरोव के मौसम विज्ञान कार्यालय में ही व्यतीत किए और कार्य करती रहीं । 1947 में भारत स्वतंत्र हुआ और अन्ना 1948 में वापस भारत आ गईं ।

Anna Mani Biography in hindi

यहां आकर उन्हें पुणे के भारतीय मौसम विभाग में नियुक्ति मिली । उनका कार्य अपने निर्देशन में रेडिएशन उपकरण निर्मित करवाना था । उनके कार्यों व लगन के कारण 1953 में उन्हें विभागाध्यक्ष का पद सौंपा गया । अन्ना ने कई विषयों पर शोधपत्र लिखे और प्रकाशित करवाए । वह उपकरणों की तुलना की प्रत्येक विषय में रुचि से काम करती थीं ।

उन्होंने वायुमंडलीय ओजोन , अंतर्राष्ट्रीय आवश्यकता , मौसम विज्ञान संबंधी उपकरणों का राष्ट्रीय मानवीकरण जैसे विषयों पर भी शोधपत्र लिखे । 1976 में वह भारतीय मौसम विज्ञान विभाग से उप महानिदेशक के पद से सेवामुक्त हो गई । किंतु फिर भी उन्होंने विज्ञान के क्षेत्र में कार्य करना नहीं छोड़ा । वह रमन शोध संस्थान में तीन वर्षों तक अतिथि प्रोफेसर ( विजिटिंग प्रोफेसर ) के रूप में कार्य करतीं रहीं ।

Anna Mani Biography in hindi

अगले 20 वर्षों तक उन्होंने ‘ भारत में वायु तथा सौर विकिरण का ऊर्जात्मक महत्व ‘ विषय पर काम किया । अपने वैज्ञानिक कैरियर के दौरान वह कई संस्थाओं से जुड़ी रहीं , जिनमें विश्व मौसम विज्ञान संगठन ( डब्ल्यू . एम . ओ . ) तथा इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर मीट्रियो – लॉजी एंड एटमॉसफेरिक फिजिक्स ( अंतर्राष्ट्रीय मौसम विज्ञान तथा वायुमंडलीय भौतिकी संस्थान ) प्रमुख हैं ।

Anna Mani Biography in hindi

1967 में उन्होंने ( डब्ल्यू . एम . ओ . ) सचिवालय में लगभग 3 महीने रहकर कार्य किया । यहां उन्होंने ‘ गाइड टू मीट्रियोलॉजिकल इंस्ट्रूमेंट एंड आब्जरविंग प्रैक्टिस ‘ को फिर से लिखा । किंतु इससे पूर्व 1975 में वह मिस्र में डब्ल्यू . एम . ओ . सलाहकार के तौर पर भी कार्य कर चुकी थी । यहां उन्होंने राष्ट्रीय विकिरण केंद्र , विकिरण स्टेशन नेटवर्क के विकास पर परामर्श दिए तथा विकिरण पर शोध किए ।

विभिन्न मौसम संबंधी उपकरणों के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तुलना करने में उन्होंने महत्वपूर्ण योगदान दिया । कई शोध पत्रों व लेखों के अलावा उन्होंने दो पुस्तकें भी लिखीं । 1980 में ‘ हैंडबुक फॉर सोलर रेडिएशन डॉटा फार इंडिया ‘ तथा 1981 में ‘ सोलर रेडिएशन ओवर इंडिया ‘ । मौसम विज्ञान के अलावा उन्होंने भौतिकी के क्षेत्र में भी शोध कर अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया ।

Anna Mani Biography in hindi

अन्ना को वायुमंडलीय ओजोन के क्षेत्र में शोध व अनुसंधान करने में विशेष रुचि थी । इसलिए उन्होंने इस क्षेत्र में 30 वर्षों से अधिक कार्य किया । इस खोजपूर्ण व रोचक उपलब्धि के लिए 1987 में उन्हें के . आर . रंगानाथन पदक प्रदान किया गया ।

यह पदक भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान एकेडमी ने प्रदान किया था और अन्ना स्वयं इसकी फेलो भी थीं । कई वर्षों तक भौतिकी , मौसम विज्ञान व भूगोल संबंधी क्षेत्रों में शोध व अनुसंधान करने वाली इस अग्रणीय महिला वैज्ञानिक का 16 अगस्त 2001 में निधन हो गया ।

Manshu Sinha

Manshu Sinha

Hello friends, Review Hindi is a News and Review site that Reviews all things like movies, tech products in Hindi. Manshu Sinha is the Founder of this Site, who is a professional Hindi blogger, content creator, digital marketer and graphic designer.

Articles: 295

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *