Homeखोज और आविष्कारशतरंज का आविष्कार किसने किया था?

शतरंज का आविष्कार किसने किया था?

नमस्कार दोस्तों स्वागत हैं आपका हमारे इस नए लेख में आज हम आपको बताएंगे कि आखिर शतरंज का आविष्कार किसने किया? इसलिए अगर आप जानना चाहते हैं कि शतरंज का आविष्कार किसने किया? और इसके पीछे का पूरा इतिहास क्या है तो यह लेख पूरा जरूर पढ़ें।

दोस्तों आप में से कई लोग ऐसे होंगे जिन्होंने अपने जीवन में एक बार शतरंज का खेल खेला होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि शतरंज का आविष्कार किसने किया था? अगर नहीं, तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है।

आज हम यह जानेंगे कि शतरंज का आविष्कार किसने किया था। शतरंज एक ऐसा खेल है जिसे सभी लोग खेल सकते हैं, यानी। बच्चे, बूढ़े हो या जवान, सभी लोगों को भी इसे खेलने में बहुत मजा आता है और इससे दिमाग भी तेज होता है।

दोस्तों आप भले ही शतरंज न खेलें लेकिन जब आप इस पूरी पोस्ट को पढ़ेंगे तो आप शतरंज जरूर खेलेंगे। हमारे समाज में इस खेल को कठिन या चुनौतीपूर्ण माना जाता है। इस गेम को खेलने के लिए आपके पास तेज दिमाग होना चाहिए। तो बिना देर किए चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं कि शतरंज का आविष्कार किसने किया था?

शतरंज क्या है

शतरंज का खेल एक ऐसा खेल है जिसे खेलने के लिए आपको तेज दिमाग की जरूरत होती है। इस खेल में दो तरह के बॉक्स बनाए जाते हैं, एक काला और एक जिसमें एक टुकड़ा रखा जाता है। इस खेल के नाम इस प्रकार हैं- राजा, रानी, घोड़ा, हाथी, प्यादे आदि।

यह गेम जितना आसान लगता है उतना है नहीं। वास्तव में, कई प्राचीन खेल हैं जिनमें शारीरिक ऊर्जा शामिल है। शतरंज एक ऐसा खेल है जो जगह-जगह बैठकर दिमाग की नसों पर जोर देकर खेला जाता है। शतरंज खेलने वाले विशेषज्ञों का कहना है कि यह एक ऐसा खेल है जो प्राचीन लोगों का जीवन खुद को दर्शाता है।

Wilhelm Steinitz विल्हेम स्टीनिट्ज़ को शतरंज का जनक कहा जाता है। बहुत पहले शिहराम नाम के एक राजा ने भारत पर शासन किया था। वह एक निरंकुश राज्य था। इस समय के आसपास एक बुद्धिमान व्यक्ति ने राजा को दिखाने के लिए शतरंज के खेल का आविष्कार किया। हालांकि, अब तक कोई नहीं जानता कि किस नाम के शख्स ने शतरंज का आविष्कार किसने किया था।

शतरंज का आविष्कार किसने किया था

शतरंज का आविष्कार किसने किया, यह ठीक-ठीक कहना मुश्किल है। लेकिन सूत्रों के अनुसार शतरंज का आविष्कार भारत में छठी शताब्दी में ही हुआ था। आज का आधुनिक शतरंज हमारे पुराने खेल चतुरंगा से लिया गया है।

जो उस समय भारत में काफी लोकप्रिय था। शतरंज दुनिया का सबसे पुराना दिमागी खेल है। वैसे तो दुनिया में कई ऐसे खेल हैं जो इस तरह की शारीरिक ऊर्जा का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन शतरंज की बात ही कुछ और है।

शतरंज के खेल का आविष्कार किस देश में हुआ था

शतरंज शब्द का आविष्कार भी भारत से ही हुआ है। शतरंज वास्तव में चतुरंगा के खेल से प्रेरित है। चतुरंगा खेल भारत से फारसी देशों में चला गया। यात्रा के दौरान, यह पाया गया कि यहाँ “राजा”, जिसे संस्कृत में “राजा” भी कहा जाता है, को फारसी में बदल दिया गया और “शाह” कहा गया और इसी शाह से इसका नाम शतरंज पड़ा।

आज हम अंग्रेजी में शतरंज शब्द का प्रयोग करते हैं जिसका प्रयोग हम Chess खेलने के लिए करते हैं। यह फ्रेंच शब्द echec से लिया गया है।

भारत में शतरंज कब आया?

शतरंज खेलने का कोई पुराना रिकॉर्ड नहीं है। लेकिन ऐसा माना जाता है कि शतरंज वास्तव में भारत का खेल है और यह चतुरंग के खेल से विकसित हुआ है।

साथ ही यह भी पता चला कि यह खेल हमारे बीच 4000 साल से चल रहा है। भारत में शतरंज की शुरूआत छठी शताब्दी के आसपास हुई। हमारे पूर्वजों में से एक चतुरंगा ने शतरंज के इस आधुनिक खेल के पहलुओं को दिखाया।

आधुनिक शतरंज शतरंज का जनक किसे कहा जाता है?
आधुनिक शतरंज (आधुनिक शतरंज) विल्हेम स्टीनिट्ज़ को शतरंज का जनक कहा जाता है।

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरा यह लेख पसंद आया होगा। मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की पाठकों को इस बात की जानकारी दी जाए कि शतरंज का आविष्कार किसने किया ताकि उन्हें किसी अन्य लेख या इंटरनेट पर उस लेख को सन्दर्भ में खोजने की जरुरत न पड़े.

इससे आपका समय भी बचेगा और उन्हें सारी जानकारी भी एक ही जगह मिल जाएगी। अगर आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है, तो आप इसे नीचे टिप्पणी में पूछ सकते हैं।

अगर आपको यह लेख पसंद आया कि किस देश में शतरंज का आविष्कार किया गया था, तो इसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंकडेन जैसे सामाजिक नेटवर्क पर साझा करें।

Manshu Sinhahttp:////reviewhindi.in
Hello friends! Manshu Sinha is a professional blogger and founder and admin of Review Hindi.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -