क्यों मनाया जाता है National Technology Day? जानकर हो जाएंगे हैरान

 क्यों मनाया जाता है National Technology Day? जानकर हो जाएंगे हैरान

हर साल 11 मई को भारत में नेशनल टेक्नोलॉजी डे (National Technology Day) मनाया जाता है। इस दिन का भारतीय इतिहास में काफी महत्व है। बता दें कि 11 मई 1998 को भारत ने सफलतापूर्वक परमाणु पोखरण न्यूक्लियर टेस्ट (Pokhran nuclear tests) किया था।

इस तरह भारत ने वैश्विक पटल पर खुद को सुपर पावर के तौर पर विकसित करने का काम किया था, जो कि भारत की साइंस और टेक्नोलॉजी का दुनिया में मील का पत्थर साबित हुआ। इस दिन की याद में हर साल नेशनल टेक्नोलॉजी डे मनाया जाता है। इसी के बाद से भारत हर साल टेक्नोलॉजी की ग्रोथ और डेवलपमेंट में नए माइल्सटोन सेट कर रहा है।

भारत ने दुनिया को दिखाई परमाणु ताकत

भारत की तरफ से 11 मई के बाद 5 पोखरण परमाणु टेक्ट किए गए थे। भारत की तरफ से पहली बार 11 मई 1998 को भारत ने राजस्थान में भारतीय सेना के पोखरण टेस्ट रेंज में ऑपरेशन शक्ति के तहत तीन सफल परमाणु परीक्षण किए। इसके बाद, 13 मई को दो और परमाणु परीक्षण किए गए और बाकी परीक्षण डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के प्रशासन में किए गए। इसी की याद में पहली बार 11 मई 1999 को पहली बार नेशनल टेक्नोलॉजी डे (National Technology Day) मनाया गया था।

अब्दुल कलाम और अटल विहारी का रहा अहम रोल

अब्दुल कलाम और अटल विहारी का रहा अहम रोल

इस परमाणु टेस्ट की पूरी जिम्मेदारी "मिसाइल मैन" के नाम से मशहूर ए.पी.जे अब्दुल कलाम (Dr. APJ Abdul Kalam) पर थी। साथ ही राजनीति इच्छा शक्ति तत्कालिक प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी (Atal Vihari Bajpa) ने दिखाई थी। इस मिशन को कोडनेम ऑपरेशन शक्ति (Operation Shakti) दिया गया था। यह एक सीक्रेट ऑपरेशन था, जिसे दुनिया की नजरों से बचाकर टेस्ट किया गया था।