20+ Short Moral Stories in Hindi for Kids free बच्चों को जरूर सुनाएं ये कहानियाँ।

50+ Short Moral Stories in Hindi 2022 :- “कहानी” एक ऐसा शब्द है जिसका विस्तार जीवन के एक छोर से दूसरे छोर तक समाहित है, कारण यह है कि यह हमे अपने जीवन में आने वाली सभी विशेष बाधाओं तथा कठिनाई से लड़ने का अनुभव प्रदान करती हैं।

ऐसे में जब बात Short Moral Stories in Hindi हिन्दी के आती है तो हम कैसे पीछे हट सकते हैं, दोस्तों कहानिया कई प्रकार कि होती है जैसे, कुछ ऐतिहासिक, काल्पनिक, बहुत बड़ी या फिर छोटी! आज हम आपके लिए लेकर आए हैं Short Moral Stories in Hindi ऐसी कहानियाँ जो कि आपको या आपके बच्चों को हमेशा जीवन में बाधाओं से लड़ने को प्रेरित करेगा।

आज हम जो कहानियाँ लिख रहे हैं यह उन छोटे बच्चों के लिए है जिनके माता पिता उन्हें कहानियों तथा साहित्य के माध्यम से वह विशेष रूप से कुछ सीख देना चाहते हैं ताकि बच्चे बड़े होकर उन्हे अपने जीवन में उतार सके।

दोस्तों वैसे Short Moral Stories in Hindi तो बहुत सारे हैं परंतु हमने आज कुछ चुनिंदा Short Moral Stories को ही इस लेख में शामिल किया है ताकि इस लेख कि गुणवक्ता बनी रहे।

दोस्तों हम जो कहानियाँ आज इस लेख में शामिल कर रहे हैं उनमें आपको बहुत सारी भिन्नता नजर आएगी जैसे कि कुछ राज्य महाराजाओं की कहानियाँ होंगी तो कुछ जंगली जानवर जैसे कि शेर, भालू, कुत्ते आदि। लेकिन मजे कली बात तो यह है कि आपको इन सब कहानियों में कुछ न कुछ तो सीखने को जरूर मिलेगा तथा आपका समय व्यर्थ नहीं जाएगा।

तो चलिए शुरू करते हैं उन सभी Short Moral Stories in Hindi को जो कि आज हम आपके लिए लाए हैं।

Short Stories in Hindi for Kids 2022

दोस्तों Short Moral Stories in Hindi कि इस लिस्ट में हमारी पहली कहानी है “प्यासा कौआ” जो कि खासकर बच्चों के लिए है लेकिन अगर आप चाहें तो यह आपके काम भी आ सकती हैं।

1.प्यासा कौआ: Short Stories in Hindi for Kids

दोस्तों एक बार कि बात है,गर्मी के महीने में, एक कौए को बहुत तेज़ प्यास लगी थी। वह पानी की तलाश में इधर-उधर उड़ रहा था। लेकिन मेहनत करने के बाद भी उसे कही भी पानी नहीं मिल रहा था। तेज़ गर्मी के कारण उसकी प्यास और भी बढ़ती जा रही थी। कौए ने सोच था कि वह प्यास में ही मर जाएगा।

लेकिन उसने हार नहीं मानी, वह पानी की तलाश करने फिर चला गया, अचानक उसे एक पानी से भरा घड़ा दिखाई दिया। वह उस घड़े को देखकर बहुत खुश हो गया और तुरंत उड़कर घड़े के पास गया।

लेकिन दिक्कत यह थी कि घड़े में पानी इतना कम था कि, उसकी चोंच पानी तक नहीं पहुँच सकी। यह देखकर वो परेशान हो गया। उसने हर तरीके से पानी पीने की कोशिश करी पर वो सफल ना हो पाया लेकिन जब वह निराश होकर जैसे ही वहाँ से जाने लगा तो उसकी नज़र अचानक कंकर पर पड़ी।

वह एक-एक कंकर अपनी चोंच से उठाकर पानी में डालने लगा। धीरे-धीरे पानी ऊपर आ गया और कौए ने जी भर कर पानी पिया और वहाँ से उड़ गया।

इस कहानी से सीख?

दोस्तों इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि “जब हमारे अंदर किसी चीज़ को पाने की चाह होती है तो हम वो चीज़ अवश्य हासिल कर पाते हैं परंतु इसके लिए कुछ मेहनत करनी भी पड़ती है”

2.शेर और चूहे की कहानी: Short Stories in Hindi for Kids

एक बार की बात है जब एक शेर जंगल में सो रहा था उस समय एक चूहा उसके शरीर में उछल कूद करने लगा अपने मनोरंजन के लिए। इससे शेर की नींद ख़राब हो गयी और वो उठ गया साथ में गुस्सा भी हो गया।

वहीँ फिर वो जैसे ही चूहे को खाने को हुआ तब चूहे ने उससे विनती करी की उसे वो आजाद कर दें और वो उसे कसम देता है की कभी यदि उसकी जरुरत पड़े तब वो जरुर से शेर की मदद के लिए आएगा. चूहे की इस साहसिकता को देखकर शेर बहुत हँसा और उसे जाने दिया।

2.शेर और चूहे की कहानी: Short Stories in Hindi for Kids
2.शेर और चूहे की कहानी: Short Stories in Hindi for Kids

कुछ महीनों के बाद एक दिन, कुछ शिकारी जंगल में शिकार करने आये और उन्होंने अपने जाल में शेर को फंसा लिया. वहीँ उसे उन्होंने एक पेड़ से बांध भी दिया। ऐसे में परेशान शेर खुदको छुड़ाने का बहुत प्रयत्न किया लेकिन कुछ कर न सका। ऐसे में वो जोर से दहाड़ने लगा।

उसकी दहाड़ बहुत दूर तक सुनाई देने लगी। वहीँ पास के रास्ते से चूहा गुजर रहा था और जब उसने शेर की दहाड़ सुनी तब उसे आभास हुआ की शेर तकलीफ में है। जैसे ही चूहा शेर के पास पहुंचा वो तुरंत अपनी पैनी दांतों से जाल को कुतरने लगा और जिससे शेर कुछ देर में आजाद भी हो गया और उसने चूहे को धन्यवाद दी। बाद में दोनों साथ मिलकर जंगल की और चले गए।

इस कहानी से सीख?

इस कहानी से हमें ये सिख मिलती है की उदार मन से किया गया कार्य हमेशा फल देता है।

3.लालची कुत्ता: Short Moral Stories in Hindi

एक बार की बात है दोस्तों एक कुत्ते को बहुत तेज भूख लगी थी। वह खाने की तलाश में इधर-उधर भटक रहा था और अचानक उसे एक रोटी दिखी। कुत्ता रोटी को देखकर बहुत उत्साहित हो गया। वो रोटी की तरफ गया और उसे अपने मुंह में दबाकर नदी के किनारे ले गया।

3.लालची कुत्ता: Short Moral Stories in Hindi
3.लालची कुत्ता: Short Moral Stories in Hindi

नदी पार करते हुए कुत्ते को पानी में अपनी परछाई दिखी और उसे लगा कि, ये किसी और कुत्ते की परछाई है जो उसकी रोटी छीनना चाहता है। उसने सोचा कि वह भोंक कर दूसरे कुत्ते को डरा देगा और जैसे ही उसने भोंकना शुरू किया उसकी रोटी उसके मुंह से निकलकर नदी में बह गई जिसके बाद वो भूखा ही रह गया।

इस कहानी से सीख?

दोस्तों इस कहानी से हमें यह सिख मिलती है कि हमेशा हमे समझदारी से काम लेना चाहिए।

4.लकड़हारा और सुनहरी कुल्हाड़ी की कहानी : Short Moral Stories in Hindi

एक समय की बात है दोस्तों जंगल के पास एक लकड़हारा रहता था। वो जंगल में लकड़ी इकठ्ठा करता था और उन्हें पास के बाज़ार में बेचता था और यही काम करके वह पैसे कमाता था।

4.लकड़हारा और सुनहरी कुल्हाड़ी की कहानी : Short Moral Stories in Hindi
4.लकड़हारा और सुनहरी कुल्हाड़ी की कहानी : Short Moral Stories in Hindi

एक दिन की बात है वो एक पेड़ काट रहा था, तभी ये हुआ की गलती से उसकी कुल्हाड़ी पास की एक नदी में गिर गई। नदी बहुत ज्यादा गहरी थी और वास्तव में तेजी से बह रही थी- उसने बहुत प्रयत्न किया अपने कुल्हाड़ी को खोजने की लेकिन उसे वो वहां नहीं मिली। अब उसे लगा की उसने कुल्हाड़ी खो दी है, वहीँ दुखी होकर वो नदी के किनारे बैठकर रोने लगा।

उसके रोने की आवाज सुनकर नदी के भगवान उठे और उस लकड़हारे से पूछा कि क्या हुआ। लकड़हारा ने उन्हें अपनी दुख भारी कहानी सुनाई। नदी के भगवान को उस लकड़हारे के ऊपर दया आई और वो उसकी मेहनत और सच्चाई देखकर उसकी मदद करने की पेशकश की।

वो नदी में गायब हो गए और एक सुनहरी कुल्हाड़ी वापस लाया, लेकिन लकड़हारे ने कहा कि यह उसका नहीं है। वो फिर से गायब हो गए और अब की बार उन्होंने चांदी की कुल्हाड़ी लेकर वापस आये, लेकिन इस बार भी लकड़हारे ने कहा कि ये कुल्हाड़ी उसका भी नहीं है।

अब नदी के भगवान पानी में फिर से गायब हो गए और अब की बार वो एक लोहे की कुल्हाड़ी के साथ वापस आ गए – लकड़ी का कुल्हाड़ी देखकर लकड़हारा मुस्कुराया और कहा कि यह उसकी कुल्हाड़ी है। नदी के भगवान ने लकड़हारे की ईमानदारी से प्रभावित होकर उसे सोने और चांदी की दोनों कुल्हाड़ियों से भेंट किया।

दोस्तों इस कहानी से हमें यह सिख मिलती है की ईमानदारी सर्वोत्तम नीति है।

5.चींटी और कबूतर : Short Moral Stories in Hindi

दोस्तों गर्मी के समय की बात है। एक चींटी को बहुत जोर कि प्यास लगी थी। वो पानी की तलाश करते हुए एक नदी के किनारे पहुंच गई। नदी से पानी पीने के लिए वो एक छोटी चट्टान पर चढ़ गई। जैसे ही वो पानी पीने लगी, वो चट्टान से फिसल कर नदी में जा गिरी। पानी का बहाव बहुत तेज था और वो नदी में बहने लगी। वहीं नदी के पास बहुत बड़ा पेड़ था, जिस पर एक कबूतर बैठा हुआ था।

5.चींटी और कबूतर : Short Moral Stories in Hindi
5.चींटी और कबूतर : Short Moral Stories in Hindi

अचानक उस कबूतर की नज़र चींटी पर पड़ी उसने उसकी मदद के लिए पेड़ से एक पत्ता तोड़ कर नदी में फेंका और चींटी उस पर चढ़ गई। कुछ देर बाद पत्ता बहकर सूखी जमीन पर पहुँच गया और चींटी बाहर आ गई। चींटी ने कबूतर का धन्यवाद किया।

शाम को एक शिकारी कबूतर का शिकार करने आया। कबूतर इस बात से अनजान था और आराम से सो रहा था। चींटी ने जैसे ही शिकारी को देखा तो उसने उसके पांव में जाकर काट दिया। इससे उस शिकारी की चीख निकल गई और वो चिलाने लगा। उसकी चीख से कबूतर जाग गया और उड़ गया। कबूतर ने चींटी की जान बचाकर जो नेक काम किया था। आज उसी ने उसकी जान बचाई है।

दोस्तों इस कहानी से हमें यह सिख मिलती है अगर हम दूसरों का बहाल करेंगे तो हमारा भी भला ही होगा।

Leave a Comment